Sanskrit Jobs: संस्कृत पढ़ने वाले छात्र को रोजगार की असीम संभावनाएं, जानिये इसमें करियर !

Sudhir Kumar
9 Min Read

संस्कृत एक ऐसी भाषा है जो अपने साथ बहुत सारे कल्चर को साथ में रखती है। यह बहुत ही पुरानी भाषा है जो हजारो साल से इस्तेमाल की जा रही है। पर इन दिनों लोग संस्कृत भाषा को महत्व धीरे – धीरे कम दे रहे हैं और इसका महत्व को खत्म करते जा रहा है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

इसका सबसे बड़ा कारण यह भी है की लोगो को यह नहीं पता है की संस्कृत भाषा में भी असीम कॅरियर (Sanskrit Jobs) सम्भावना है जिससे लोग अच्छा कॅरियर बना सकते हैं। इसलिए इस लेख में हम आपको संस्कृत भाषा में सभी असीम करियर सम्भावना के बारे में बताऊंगा।

Sanskrit Jobs: प्रोफेसर / असिस्टेंट प्रोफेसर बन सकते हैं

संस्कृत भाषा में अच्छे से पढाई कर के और इसमें अगर कोई छात्र Ph.D. करता है तो छात्र इससे प्रोफेसर या फिर असिस्टेंट प्रोफेसर भी बन सकता है। भारत में और विश्व में अभी भी कई ऐसे यूनिवर्सिटी और कॉलेज है जहाँ पर संस्कृत भाषा को पढ़ाया जाता है।

परन्तु समय के साथ संस्कृत को लोग कम महत्व देते चले जा रहे हैं और समय के साथ लोग संस्कृत भाषा को पढ़ने के बजाय इंग्लिश भाषा को ज्यादा महत्व दे रहे हैं। ऐसे में अगर कोई छात्र अच्छे से संस्कृत भाषा को अध्यन करता है और इस भाषा में वह Ph.D. करता है तो वह संस्कृत भाषा में प्रोफेसर या असिस्टेंट प्रोफेसर बन सकता है।

इस भाषा में कोई छात्र, लैंग्वेज, लिटरेचर, लिंग्विस्टिक्स का टीचर बन सकता है। जिसमे उन्हें अंडर ग्रेजुएट और ग्रेजुएट छात्र को पढ़ाना होगा। वही इसमें संस्कृत विद्यार्थी रिसर्च का सकता है या फिर स्कॉलरली आर्टिकल को पब्लिशड  कर सकता है।

Sanskrit Jobs: रीसर्चर बन सकते हैं

आपको बता दें की संस्कृत ऐसी भाषा है जो आज भी हजारो साल से कलेक्ट की गयी डाक्यूमेंट्स और डाटा को रीड करने के लिए इस्तेमाल की जाती है। यह भाषा का इस्तेमाल सिर्फ भारत में नहीं बल्कि विश्व के कई और देश में भी इस भाषा से जुडी इतिहास है। 

ऐसे में संस्कृति भाषा में भी अभी भी बहुत रिसर्च चल रहा है और इससे कई रहस्य और ज्ञान सामने आती है। ऐसे में कोई छात्र संस्कृत भाषा में रिसर्चर बन सकता है। रिसर्चर के पद पर वह संस्कृत लिटरेचर, लिंगविस्टिक, फिलोसोफी, रिलिजियन, हिस्ट्री और अन्सिएंट इंडियन कल्चर की रिसर्च कर सकता है।

छात्र संस्कृत में रिसर्चर बन कर अपना रिसर्च पेपर को ऐकडेमिक जर्नल्स, या फिर कॉनफेरेन्स में सबमिट कर सकता है। साथ ही वह कई सारे रिसर्च में पार्ट लेकर उसमे जुड़ी गुथियों को सुलझा सकता है। यह बहुत ही रोचक और मह्त्वपूण करियर है। संस्कृत पढ़ने वाले छात्र इसमें अपना अच्छा स्कोप बना सकते हैं।

Sanskrit Jobs: ट्रांसलेटर में बना सकते हैं करियर

संस्कृत स्कॉलर अपने डीप अंडरस्टैंडिंग की मदद से संस्कृत टेक्स्ट को अच्छे से पढ़ कर और समझ कर ट्रांसलेटर बन सकते हैं, और एंशिएंट संस्कृत मैनुस्क्रिप्ट, स्क्रिप्टर, और फिलोसोफिकल कार्य को मॉडर्न लैंग्वेज हिंदी या फिर अंग्रेजी भाषा में कन्वर्ट कर के उसका मतलब निकाल सकते हैं।

बहुत से लोगो को लगता है की यह काम गूगल ट्रांसलेट या फिर कंप्यूटर द्वारा बनाया गया ट्रांसलेटर की मदद से किया जा सकता है। पर ऐसा सम्भव नहीं है, कंप्यूटर दिमाग कभी भी इंसान की दिमाग की तरह चीज़ो को पढ़ कर सही मतलब नहीं निकाल सकता है, खास कर पुराने संस्कृत भाषा को।

ऐसे में कोई इंसान भले ही कंप्यूटर का इस्तेमाल कर सकता है और इससे मदद ले सकता है। लेकिन उसके बाद  का सही मायने केवल वही इंसान निकाल सकता है जिसे संस्कृति भाषा का अच्छा अध्यन है और इंसानी सभ्यता का भी अच्छे से ज्ञान है। ऐसे में छात्र संस्कृत को पढ़ कर ट्रांसलेटर के तौर पर अपना कॅरियर बना सकते हैं।

Sanskrit Jobs: आर्चिविस्ट में है असीम सम्भावनाये

भारत में संस्कृति बहुत ही प्राचीन भाषा है और हजारो साल से हमारे पूर्वज ने संस्कृत भाषा में बहुत सारे डॉक्यूमेंट अभी ऐसे है जिनका हर दिन अध्ययन किया जा रहा है। परन्तु आज भी भारत में ऐसे बहुत कम ही अच्छे आर्चविस्ट है जो इन डाक्यूमेंट्स और अन्सिएंट पेपर की स्टडी कर सके।

ऐसे में आप अगर अच्छे संस्कृत की जानकारी है तो आप आर्चविस्ट में अपना करियर बना सकते हैं। इसमें आपको पुराने जमाने से प्रिज़र्व की हुई कलेक्शन को स्टडी करना है और उन्हें समझना है। यह काफी डिमांडिंग और काफी कठिन काम है जिसमे बहुत ज्यादा मेहनत लगता है परन्तु इसमें सैलरी भी बहुत अच्छी है।

Sanskrit Jobs: संस्कृत टेक्स्टबुक ऑथर बने

आपको बता दें की संस्कृत भाषा को भारत, चाइना, जापान, कोरिया, तिब्बत, साउथ ईस्ट एशिया, यूरोप और यहाँ तक अमेरिका में भी इसकी पढाई होती है। इन देशो में ऐसे कई सारे यूनिवर्सिटी और कॉलेज है जहाँ पर संस्कृत भाषा की पढाई होती है।

इसलिए बच्चो को संस्कृत पढ़ने के लिए समय – समय पर नयी किताबे बनाई जाती है, जिसमे उन्हें हिंदी के द्वारा संस्कृत सिखाया जा सके, अंग्रेजी के द्वारा संस्कृत सिखाया जा सके, या फिर चीनी भाषा के द्वारा संस्कृत सिखाया जा सके। उन्हें ऐसा टेक्स्टबुक तैयार कर के दिया जाता है, जिससे उन्हें संस्कृति भाषा को सिखने में मदद मिल सके।

आप अपने कॉलेज या यूनिवर्सिटी से पढ़ाई कर के कई सारे ऐसे पब्लिकेशन से जुड़ कर संस्कृति टेक्स्टबुक ऑथर बन सकते हैं। इसमें आपको काम रहेगा – राइटिंग करना, एडिटिंग करना, पहले से तैयार हुआ कंटेंट को रिव्यु करना। यह काफी अच्छा कॅरियर है और अमेरिका तथा कई और देश में भी इसका कॅरियर है। यानी की आप विदेश में भी इसका जॉब कर सकते हैं।

Sanskrit Jobs: संस्कृत स्कूल टीचर बने

अगर आप संस्कृत जानते हैं तो आप कई स्कूल में संस्कृत टीचर बन सकते हैं। संस्कृत टीचर की जॉब में आपको दसवीं से कम वाले सभी विधार्थी को संस्कृत भाषा को पढ़ाना होगा। हम सभी ने आठवीं तक संस्कृत भाषा को पढ़ा था, परन्तु बहुत से स्कूल बोर्ड में दसवीं तक संस्कृत को पढाई जाती है।

आप चाहे तो गवर्नमेंट या फिर प्राइवेट संस्कृत स्कूल टीचर भी बन सकते हैं। साथ ही आप सीनियर सेकेंडरी यानी की ग्यारहवीं और बारहवीं के छात्र को भी संस्कृत पढ़ा सकते हैं। बहुत से स्कूल में लोग दसवीं के बाद भी संस्कृत को पढ़ना पसंद करते हैं। ऐसे में आप संस्कृत टीचर बन सकते हैं।

निष्कर्ष:

संस्कृत एक ऐसी भाषा है जिसे कहा जाता है की यह इंग्लिश और हिंदी भाषा से भी प्राचीन भाषा है। कहा जाता है की बहुत सारे भाषा का इवॉल्व भी संस्कृत भाषा से हुआ है। आज भी संस्कृत भाषा का हमारे समाज में एक बहुत ही अहम योगदान है।

ऐसे में ऊपर इस लेख में हमने आपको संस्कृत भाषा में क्या करियर है के बारे में बतलाया है। उम्मीद करता हूँ की आपको हमारे द्वारा दी गयी यह जानकारी से कुछ सिखने को मिला होगा। अगर आपका कोई भी सवाल हो तो आप हमे कमेंट कर के पूछ सकते हैं।

Check Here: MP सरकार दे रही है लाडली लक्ष्मी योजना में आर्थिक मदद, जानें पूरी आवेदन प्रोसेस 

Share this Article
Leave a comment