Car Insurance: कार इंश्योरेंस करवाने से पहले जाने यह जरूरी बाते

Prasanjeet Mandal
6 Min Read

Car Insurance: देश में कारों की बिक्री लगातार बढ़ती जा रही है, हर नई बिकने वाली गाड़ी के साथ इंश्योरेंस लोग लेते जा रहे हैं। इसके अलावा पुराने कार पर भी लोग बीमा करवा रहे हैं, साथ ही पुराने कार का इंश्योरेंस (Car Insurance) कराने की सोच रहे हैं, ऐसे में आपको कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद आवश्यक है, यदि आप इन बातों का ध्यान नहीं रखते हैं, तो आपको आगे जाकर भारी समस्या हो सकती है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

यदि आप भी एक नई कार का इंश्योरेंस (Car Insurance) करवाना चाहते हैं या फिर अपनी पुरानी कार का इंश्योरेंस करना चाहते हैं, तो आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में पता होना बेहद आवश्यक है, तो आइए जानते हैं किस प्रकार से कार इंश्योरेंस आपके लिए फायदेमंद हो सकता है।

इसे भी देखें👉 HDFC Credit Card Kaise Apply Kare: HDFC को फ्लिपकार्ट और अमेजन पर बहुत सारे ऑफर के फायदा इससे मिलेगा।

कार इंश्योरेंस लेते समय रखे यह ध्यान

सबसे पहली बात जिसका ध्यान रखना बेहद जरूरी है, किसी भी कार का इंश्योरेंस लेते समय हमेशा, कवरेज का ध्यान रखना चाहिए साथ ही आपको अपनी आवश्यकताओं के मुताबिक कवरेज लेना चाहिए साथ ही कंप्रिहेंसिव कवरेज लेना सही रहता है, इसके अलावा आपको कर डैमेज के अलावा चोरी और प्रकृति आपदा की वजह से होने वाले नुकसान के लिए भी कवरेज मिलती है।

ले एक्स्ट्रा सुविधा

इन सुविधाओं को प्राप्त करने के लिए आपको कुछ एक्स्ट्रा पैसा देना होता है, साथ ही उदाहरण के लिए इंजन प्रोटेक्टर, जीरो डेट, 24 X 7 रोड साइड अस्सिटेंस आदि है, कोई भी अपनी आवश्यकताओं के हिसाब से राइडर का चुनाव कर सकते हैं।

इन बातो पे ज्यादा ध्यान दे

आपको पॉलिसी लेते समय हमेशा पॉलिसी में लिखे जाने वाली बातों को ध्यान रखना चाहिए, साथ ही बीमा लेने से पहले हमें इंश्योरेंस कंपनी से हर एक चीज स्पष्ट कर लेना चाहिए। साथ यदि अपने ज्यादा कटौती पर सहमत है, तो आप पॉलिसी अपनी कीमत के अनुसार ले सकते हैं।

एक बात और है जिस पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए, तो मैं आपको बताना चाहूंगा की पॉलिसी खरीदने से पहले हमेशा इंश्योरेंस कंपनी की क्लेम सेटेलमेंट रेशियो की जांच करना आपके लिए ज्यादा आवश्यक हो जाता है, साथ ही यह रेशिओ 1 साल में मिले क्लेम की संख्या के खिलाफ कंपनी के जरिए पूरे किए गए दावे की संख्या की जानकारी होती है।

Car Insurance Full Details

यदि आप कार इंश्योरेंस से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी को जानना चाहते हैं, तो नीचे दिए गए टेबल की सहायता से जान सकते हैं। साथ ही यदि आप चाहे तो, Car Loan Interest Rate की जानकारी को जान सकते हैं और अपने फाइनेंशियल ज्ञान को और अधिक बढ़ा सकते हैं।

बीमा प्रकारविवरणअनुशंसित
कॉम्प्रिहेंसिव वाहन बीमातृतीय-पक्ष कानूनी देनदारियों और दुर्घटना या दुर्घटना के दौरान बीमित वाहन को हुए नुकसान या क्षति के खिलाफ कवरेज प्रदान करता है। इसमें सड़क दुर्घटनाओं, आग, चोरी, भूकंप, तूफान, बाढ़ आदि सहित प्राकृतिक और मानव निर्मित आपदाओं के खिलाफ वाहन को कवर किया जाता है।उन वाहन मालिकों के लिए जो अपने वाहन के लिए सभी प्रकार के सुरक्षा चाहते हैं।
स्टैंडअलोन ओडी कवरIRDAI द्वारा पेश की गई स्टैंडअलोन ओन डैमेज (OD) कवर नीतियां वाहन मालिकों को प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं के कारण उनके वाहन को हुए नुकसान या क्षति के खिलाफ कवरेज प्राप्त करने की अनुमति देती हैं। इस प्रकार की पॉलिसी उन लोगों द्वारा खरीदी जा सकती है जिनके पास पहले से ही किसी अन्य या उसी बीमाकर्ता से तृतीय-पक्ष कवर है।उन वाहन मालिकों के लिए जो अपने वाहन के लिए सभी प्रकार के सुरक्षा चाहते हैं।
तृतीय-पक्ष वाहन बीमाभारत में कानून के अनुसार यह अनिवार्य है। यह पॉलिसीधारक को उसके/उसकी वाहन से जुड़े दुर्घटना के कारण होने वाली कानूनी देनदारियों से बचाता है। इसका मतलब है कि यदि बीमित वाहन किसी तीसरे पक्ष को शारीरिक चोट, मृत्यु या संपत्ति की क्षति पहुंचाता है, तो बीमाकर्ता कानूनी देनदारी का ध्यान रखेगा।चूंकि यह वाहन को स्वयं कवर नहीं करता है, केवल तृतीय पक्ष कवर किसी भी वाहन के लिए अनुशंसित नहीं है। भले ही आप अपने वाहन को सड़क पर शायद ही कभी बाहर निकालें, फिर भी चोरी और पार्किंग क्षति का जोखिम है। यदि आप इस प्रकार की पॉलिसी चुनते हैं, तो आपको अपने वाहन को हुए किसी भी नुकसान के लिए स्वयं भुगतान करना होगा।

Share this Article
Leave a comment